नन्द सिंगला
नारायणगढ ,एसडीएम डा. वैशाली शर्मा ने कहा कि ब्लॉक शहजादपुर को कुपोषण मुक्त करने को लेकर स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी/कर्मचारी एक टीम भावना के साथ काम करें। एसडीएम आज राजकीय कन्या सीनीयर सेकंडरी स्कूल शहजादपुर में कुपोषण मुक्त अभियान से जुड़ी टीम सदस्यों को सम्बोधित कर रही थी। ब्लॉक शहजादपुर के 137 आंगनवाड़ी केंद्रों में रजिस्टर्ड 8586 बच्चों के कुपोषण सम्बंधी स्वास्थ्य की जांच के लिए 10 टीमें बनाई गई है। प्रत्येक टीम में एक डॉक्टर, ए एन एम, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर व डाटा इंट्री ऑप्रेटर सक्षम युवा को लिया गया है।
एसडीएम ने कहा कि टीम द्वारा 7 अप्रैल से 24 अप्रैल तक प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र में जाकर 0-6 वर्ष की आयुवर्ग के बच्चों की स्वास्थ्य सम्बन्धी जांच की जाएगी और जो बच्चे कुपोषित पाए जाएंगे, उनके अभिभावकों को बच्चों के खानपान के बारे में बताया जाएगा ओर जिन बच्चों को इलाज की जरूरत होगी उस बारे में भी डॉक्टर उन्हें बताएंगे।
उन्होंने कहा कि बच्चों के सही प्रकार से शारीरिक विकास एवं कुपोषण मुक्त करने को लेकर जिला अम्बाला में ब्लॉक शहजादपुर को ग्रोथ मोनिटरिंग के लिए चुना गया है। इसी प्रकार से प्रदेश के प्रत्येक जिले में एक-एक ब्लॉक को लिया गया है। जिनमें 0-6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए विशेष ध्यान दिया जाएगा और विभिन्न प्रकार की गतिविधियां आयोजित कि जाएगी।
इस अवसर पर सीएमजीजीए उत्सव शाह ने कहा कि ब्लॉक शहजादपुर को कुपोषण से मुक्त बनाने के लिए सभी का सहयोग आवश्यक है। टीम में शामिल सभी अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी मेहनत व लग्न के साथ मिशनमोड में काम करें। उन्होंने कहा कि वे गूगल फॉर्म बना रहे जिसमें बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी डाटा भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि टीम द्वारा बच्चों का वजन, ऊंचाई, बीएमआई शारीरिक वृद्धि से सम्बंधित स्वास्थ्य की जांच की जाएगी।
उन्होंने कहा कि अतिकुपोषित (एसएएम) तथा मध्यम कुपोषित (एमएएम) बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है और कैसा खानपान हो जिससे कुपोषण समाप्त हो सके। इस बारे में जागरूक होना व महिलाओं को जागरूक करना बेहद आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि जिस दिन भी टीम आयेगी उस दिन आंगनवाड़ी केन्द्र में सभी बच्चे मौजूद होने चाहिए। जिन बच्चों के नाम आंगनवाड़ी केन्द्र में दर्ज है। उन्होंने कहा कि जो बच्चें कुपोषित पाये जाएगें, उनका चिकित्सकों के परामर्श अनुसार इलाज हो सकेगा। इस अवसर पर एस.एम. ओ. शहजादपुर डॉक्टर तरुण प्रसाद, एस. एम. ओ. नारायणगढ़ डॉक्टर संजीव सिद्धु, बीइओ ज्योति, पीजीआई रोहतक से डॉक्टर गोपाल, सीडीपीओं मीक्षा रंगा, डॉक्टर नीतीश, डॉक्टर प्रिया व सुपरवाईजर भी मौजूद रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here