नवराज न्यूज़
मंडी, हरियाणा के सूरजकुंड में आयोजित होने वाले अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में इस बार हिमाचली संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी। मेले का शुभारंभ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे और इस दौरान हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सहित हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर भी विशेष रूप से मौजूद रहेंगे। 1 से 16 फरवरी तक आयोजित होने वाले इस मेले में हिमाचली कलाकार लोक संस्कृति को अंतराष्ट्रीय पटल पर रखेंगे। इसके लिए हिमाचल से तीन सौ कलाकारों का दल सूरजकुंड भेजा गया है।

सूरजकुंड में आयोजित होने वाले अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले को पहली बार हिमाचली थीम पर आयोजित किया जा रहा है। ऐसे में मेले में आने वाले देश-विदेश के पर्यटकों को हिमाचली हस्तशिल्प की कारीगरी सहित पहाड़ की समृद्ध संस्कृति के दर्शन करवाने की पूरी व्यवस्था राज्य सरकार ने की है, ताकि राज्य में पर्यटन व्यवसाय को निखारा जा सके।

मेले के शुभारंभ पर होने वाले रंगारंग कार्यक्रम में मंडी की लुड्डी का प्रर्दशन किया जाएगा। छह जिलों के कलाकारों द्वारा एक साथ देवताओं के आसरे नाची गई नाटी का प्रर्दशन राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के समक्ष करेंगे। इससे पहले धर्मशाला इन्वेस्टर मीट के दौरान कलाकार प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के सामने नाटी का प्रदर्शन कर चुके हैं।

मंडी के कलाकार लुड्डी, नागरीय नृत्य सहित मंडयाली गिद्दे का प्रर्दशन पहली बार अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में करेंगे और पर्यटकों को छोटी काशी की समृद्ध संस्कृति के दर्शन करवाएंगे। हमीरपुर के कलाकार गिद्दा करेंगे जबकि उना के कलाकार हिमाचली ढोल की थाप पर भांगड़ा डालेंगे। सोलन, सिरमौर, शिमला और कुल्लू के कलाकार नाटी के सहारे पहाड़ी संस्कृति का बोध करवाएंगे। कांगड़ा के कलाकार झमाकड़ा के सहारे हिमाचल में शादी के दौरान होने वाली रस्मों से लोगों को अवगत करवाएंगे।

अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में हिमाचल में कारीगरों द्वारा हाथ से बना सामान उपलब्ध नहीं होगा बल्कि यह सामान बनाया कैसे जाता है इसका भी लाइव डेमो दिया जाएगा। मेले के दौरान अगर कोई रूचि दिखाएगा तो उसे हिमाचली हस्तशिल्प कारीगरी को सिखाया भी जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here