नवराज न्यूज़
हल्द्वानी। जिला एवं सत्र न्यायाधीश सीपी बिजल्वाण की अदालत से युवक बनकर युवतियों से शादी करने और उन्हें दहेज के लिए प्रताडि़त करने की आरोपी युवती की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया गया।
अभियोजन पक्ष की ओर से एडीजीसी अतुल साह ने न्यायालय को बताया कि रामगंगा हाइडिल धामपुज बिजनौर निवासी महिला कृष्णा सेन के खिलाफ हल्द्वानी कोतवाली में आईपीसी की धारा 417, 419, 467, 468, 469, 471, 323, 504 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आरोप है कि कृष्णा ने युवक बनकर दो युवतियों को पहले प्रेम जाल में फंसाया फिर मोटी रकम और दहेज के लिए विवाह भी किया। प्रथम पीडि़ता का कहना है कि फेसबुक में दोस्ती के बाद 14 फरवरी 2014 दोनों ने विवाह कर लिया। उसके परिजनों ने कृष्णा को पर्याप्त दहेज और सामान दिया। कृष्णा की ओर से उसके लिए बनाए जेवरात नकली पाए गए। बाद में वह उसे दहेज के लिए प्रताडि़त करता। उसने 5 लाख रुपये की मांग की। इसके बाद उसने 29 अप्रैल 2016 को एक अन्य युवती के साथ विवाह किया। धमकी देते हुए कहा कि इस बात का किसी से जिक्र मत करना। जिला न्यायालय में आरोपी महिला की जमानत अर्जी प्रस्तुत की गई। अभियोजन पक्ष की दलील पर जिला न्यायालय ने इसे खारिज कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here