चंडीगढ़, हरियाणा को तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर करने और केंद्र से जुड़े प्रदेश के बड़े प्रोजेक्ट्स को जल्द पूरा करवाने के लिए हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला निरंतर केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात कर रहे हैं। सोमवार को जहां वे केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले तो मंगलवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। इस दौरान दुष्यंत चौटाला ने उनसे देश व प्रदेश के जुडे अनेक मुद्दों पर चर्चा की। केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात के विषय पर डिप्टी सीएम ने कहा कि वे अपने विभागों से जुड़े केंद्रीय मंत्रियों से निरंतर मुलाकात कर रहे हैं और आने वाले दिनों में भी मुलाकात का सिलसिला जारी रहेगा। वे मंगलवार को दिल्ली स्थित जेजेपी के केंद्रीय कार्यालय पर पत्रकारों से रूबरू थे।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हिसार में तैयार हो रहे एविएशन हब में रक्षा मंत्रालय की ओर से एयर फोर्स और इंडियन आर्मी के प्लेन और हेलीकॉप्टर के मेन्टेनेंस, रिपेयर और ओवरहॉल का काम आ जाए तो सोने पर सुहागा होगा। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र और प्रदेश की प्रगति को बढ़ावा मिलेगा और इसको लेकर उन्होंने रक्षा मंत्री से चर्चा की है। इसके अलावा प्रदेश सरकार गुरुग्राम के ग्लोबल सिटी प्रोजेक्ट में हेलीपैड और देश का पहला एयरो म्यूजियम बनाने की योजना बना रही है, इन तमाम मुद्दों को लेकर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से चर्चा हुई है।

वहीं दुष्यंत चौटाला ने हिसार के अलावा प्रदेश के चार अन्य रनवे से भी यात्री हवाई उड़ानें शुरू करने के लिए केंद्रीय मंत्री से चर्चा की। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने आज हिसार रनवे को चंडीगढ़, धर्मशाला, देहरादून की ओर उड़ान से जोड़ा है। उन्होंने कहा कि इसी तरह अगर करनाल, हिसार, भिवानी रनवे को भी परमिट मिलेंगे तो यहां से नये प्लेन उड़ेंगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अगर इन रनवे से जम्मू के लिए उड़ान होंगी तो कोई प्लेन यहां से खाली नहीं जाएगा।

हरियाणा में कर्मचारियों और श्रमिकों की बेहतर मेडिकल सुविधा के लिए खुलने वाले नए प्रस्तावित ईएसआई अस्पतालों और डिस्पेंसरी का जल्द से जल्द निर्माण करवाने को लेकर भी उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव से मुलाकात करेंगे। इस बारे डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि हरियाणा में चार ईएसआई अस्पताल और तीन डिस्पेंसरी बनाई जानी है। इनके अलावा ईएसआई से संबंधित अन्य प्रोजेक्ट्स को गति देने के लिए वे केंद्रीय श्रम मंत्री से मुलाकात करेंगे और इन पर चर्चा करेंगे।

उन्होंने कहा कि संसद का मानसून सत्र चल रहा है और केंद्रीय मंत्रीमंडल में नये मंत्री शामिल हुए है और उनके विभागों से जुड़े केंद्रीय मंत्रियों से वे निरंतर मुलाकात कर रहे हैं और आने वाले दिनों में भी यह मुलाकात का सिलसिला जारी रहेगा। केंद्र से संबंधित राज्य के पेंडिंग प्रोजेक्ट्स को जल्द पूरा करना ही मुलाकात का मकसद है।

मंत्रिमंडल विस्तार और बदलाव के सवाल पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार होना है। दोनों संगठनों (बीजेपी-जेजेपी) ने अपने-अपने कोटे के एक-एक कैबिनेट मंत्री को शपथ दिलानी है। इसके साथ अगर कोई बदलाव होगा तो वो बाद में देखा जाएगा लेकिन आज के दिन इसकी कोई चर्चा नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि जो होगा वो समय पर और प्रदेश हित में होगा।

किसानों के आंदोलन के सवाल के संदर्भ में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आज के दिन इस आंदोलन में किसान नेता नहीं बल्कि राजनेता हैं। पिछले एक साल से ना एमएसपी खत्म हुई है और न ही कोई मंडी खत्म हुई। उन्होंने कहा कि किसानों को बड़ी-बड़ी बातों के जरिये भ्रमित किया जा रहा है और यह धीरे-धीरे जनता भी समझ रही है। पिछली गेहूं की खरीद प्रक्रिया 10 दिन पहले शुरू की गई और सरकार ने बेहतर तरीके से किसानों की फसल खरीदी और उसका सीधा खातों में भुगतान किया। दुष्यंत चौटाला ने आंदोलनरत किसान नेताओं से सवाल किया कि जो लोग दिल्ली बॉर्डर पर भोले किसानों को लेकर आए थे वो उस समय कहां थे जब सरकार नये कृषि कानून को डेढ़ साल तक स्थगित करके किसानों की सभी शर्तें मान रही थी वो पीछे क्यों हटे? उन्होंने कहा कि किसान नेताओं का एजेंडा नये कानून में बदलाव लाने का नहीं बल्कि आगामी चुनावों से जुड़ा हुआ है और आने वाले दिनों में धीरे-धीरे सब स्पष्ट हो जाएगा। दुष्यंत चौटाला ने जेजेपी विधायक देवेंद्र बबली और डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा की गाड़ी पर तोड़फोड़ करने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि आज आंदोलन में गुंडा तत्व घुस चुका है और धीरे-धीरे सामाजिक लोग आंदोलन से दूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के खाते में सीधा भुगतान करने जैसे कदम उठाकर सरकार निरंतर किसानों को मजबूत करने का काम कर रही है। एक अन्य सवाल के जवाब में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस जनता को भम्रित करने का काम करती है। कांग्रेस ने नये कृषि कानूनों को काला बताया और मारुति के प्लांट को यहां से पलायन करने की बात कही। क्या कोई पलायन हुआ ? प्रदेश में आज फ्लिपकार्ट, एटीएल जैसी बड़ी कंपनियां निवेश के लिए आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here