पंचकूला, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने आज श्री माता मनसा देवी परिसर में माता मनसा देवी श्राईंन बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता की तथा वहां किये जा रहे विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की।
इस अवसर पर उनके साथ जिला उपायुक्त व माता मनसा देवी श्राईंन बोर्ड के मुख्य प्रशासक विनय प्रताप सिंह तथा बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री वाईएस गुप्ता भी उपस्थित थे।
जिला में कोरोना के मामलो में कमी को देखते हुये माता मनसा देवी मंदिर में भंडारे की व्यवस्था को पुन शुरू करने का निर्णय लिया गया है। श्री गुप्ता ने कहा कि भंडारे के दौरान कम से कम 6 गज की दूरी का पालना व भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा कोविड के संबंध में जारी दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित करना होगा।
माता मनसा देवी परिसर की साफ सफाई के प्रबंध की समीक्षा करते हुये उन्होंने बोर्ड द्वारा गैर सरकारी सदस्यों की गठित स्वच्छता कमेटी को निर्देश दिये कि वे मंदिर परिसर की साफ सफाई, शौचालयों की मरम्मत व नये शौचालयों का निर्माण करने को लेकर अपनी रिपोर्ट आगामी बैठक में प्रस्तुत करे ताकि उस पर उचित कार्रवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि ठेकेदार की जिम्मेदारी तय करने के लिये मंदिर की साफ सफाई करने वाले कर्मचारियों का मासिक भुगतान स्वच्छता कमेटी की सिफारिशों के आधार पर किया जायेगा। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध करवाने के लिये मंदिर परिसर में बनी डिस्पेंसरी में डाॅक्टर दो शिफ्टों में अपनी ड्यूटी मंदिर के समयानुसार देंगे।
माता मनसा देवी परिसर में विकास कार्यों की समीक्षा करते हुये श्री गुप्ता ने निर्देश दिये कि बोर्ड द्वारा गठित गैर सरकारी सदस्यों की निर्माण कमेटी बोर्ड मंदिर परिसर में किये जा रहे सभी निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने निर्देश दिये कि माता मनसा देवी मंदिर परिसर में नये काॅरिडोर के निर्माण का कार्य 15 सितंबर 2021 तक पूरा होना चाहिये। श्री गुप्ता को अवगत करवाया गया कि काॅरिडोर का लगभग 70 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। काॅरिडोर के लिये ग्रेनाईट पत्थर खरीदने की स्वीकृति ले ली गई है तथा पत्थर लगाने का काम शीघ्र ही शुरू कर दिया जायेगा। श्री गुप्ता को यह भी बताया गया कि मंदिर परिसर में 5 मंजिली वृद्धाश्रम का कार्य 10.48 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है जोकि 15 जनवरी 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा।
श्री गुप्ता ने पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कालका काली माता मंदिर के समीप बनाये जा रहे दो शक्ति स्तंभों को इस तरीके से विकसित करें कि वे लागों के लिये आकर्षण का केंद्र बने। उन्होंने कहा कि इन स्तंभों का सौंदर्यकरण करने के लिये इन पर रंग बिरंगी लाईटिंग की व्यवस्था की जाये। उन्होंने आर्किटैक्चर विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि मुख्य सिंह द्वार का एक आर्कषक डिजाईन शीघ्र अतिशीघ्र बनाकर उनके समक्ष प्रस्तुत किया जाये।
उन्होंने निर्देश दिये कि श्री माता मनसा देवी परिसर में बनाये जाने वाले संस्कृत काॅलेज के भवन का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू किया जाये। उन्होंने बताया कि 2.10 एकड़ भूमि में बनने वाले इस भवन का शिलान्यास मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा किया गया है। उन्होंने उपायुक्त एवं श्री माता मनसा देवी श्राईंन बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री विनय प्रताप सिंह से कहा कि वे स्वयं संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ निर्माण स्थल का दौरा करें और निर्माण कार्य में आ रही बाधाओ ंको प्राथमिकता के आधार पर दूर करें। इसी प्रकार उन्होंने माता मनसा देवी मंदिर परिसर में नेशनल इंस्टीच्यूट आॅफ आयुर्वेदा एंड नैचरोपैथी को स्थापित करने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिये। इस संस्थान के निर्माण के लिये माता मनसा देवी श्राईंन बोर्ड द्वारा 19.87 एकड भूमि आयुष मंत्रालय भारत सरकार को आवंटित की गई है और इसका निर्माण कार्य भी आयुष मंत्रालय द्वारा किया जाना हैं। राष्ट्रीय आयुर्वेंद संस्थान जयपुर के लाईजेन आॅफिसर डाॅ दिनेश शर्मा ने श्री गुप्ता को बताया कि इस संस्थान के निर्माण का कार्य एजेंसी को अलाॅट कर दिया गया है जो 15 अगस्त 2021 तक इस कार्य के शुरू होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय आयुर्वेंद संस्थान जयपुर माता मनसा देवी मंदिर के समीप बनने वाले डायगनिस्ट सेंटर में अपनी ओपीडी शुरू करने के इच्छुक है, जिसके लिये संस्थान को उपयुक्त स्थान उपलब्ध करवाया जाये। बैठक में बताया गया कि डायगनिस्ट सेंटर का निर्माण वैली पब्लिक स्कूल के साथ लगती भूमि पर किया जाना प्रस्तावित है। इस डायगनिस्ट सेंटर के निर्माण पर लगभग 2.52 करोड़ रुपये की राशि खर्च होगी।
माता मनसा देवी मंदिर परिसर में अवैध अतिक्रमण की समीक्षा करते हुये श्री गुप्ता ने निर्देश दिये कि श्राईन बोर्ड के आसपास का व्यवसायिक क्षेत्र और अवैध अतिक्रमण को हटाने का कार्य हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा श्राईंन बोर्ड को हस्तारिंत किया जाये। इसके अलावा खाली पड़े बूथों की नीलामी का काम भी शीघ्र शुरू किया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि सिंह द्वार के रख रखाव का कार्य भी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की बजाय श्राईंन बोर्ड द्वारा किया जाये। उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी श्रीमती ममता शर्मा को सिंह द्वार के समीप शराब के ठेके को जल्द से जल्द हटवाने के निर्देश दिये। इस पर श्रीमती ममता शर्मा ने श्री गुप्ता को बताया कि आगामी 7 दिनोें में शराब के ठेके को वहां से हटवा दिया जायेगा।
बैठक में बोर्ड द्वारा की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों के लिये शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया गया हैं, जिसके अनुसार जागरण के लिये 11 हजार रुपये, हवन के लिये 3100 रुपये, मुंडन के लिये 251, छोला बुकिंग के लिये 1100 रुपये, एसी रूम के लिये 600, नाॅन एसी रूम का 300 रुपये, नये दो पहिया वाहन की पूजा का 500 रुपये तथा नये चार पहिया वाहन की पूजा के लिये 1100 रुपये निर्धारित किये गये है।
इस अवसर पर कालका की पूर्व विधायक व महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्रीमती लतिका शर्मा, बोर्ड के सदस्य व गेल की निदेशक बंतो कटारिया, श्री माता मनसा देवी श्राईंन बोर्ड की सचिव श्रीमती शारदा प्रजापति, बोर्ड के सदस्य अजय शर्मा, श्यामलाल बंसल, अमित जिंदल, बलकेश वत्स, हरबंस सिंगला, बोर्ड के एसोसियेट मेंबर विशाल सेठ व नरेंद्र जैन, एचएसवीपी की संपदा अधिकारी श्रीमती ममता शर्मा सहित विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here